छत्तीसगढसंपादकीय

दुर्ग स्वच्छ भारत मिशन योजना के अंतर्गत ग्राम पंचायत रिसामा को लगे चार चांद।

*स्वच्छ भारत मिशन योजना के अंतर्गत ग्राम पंचायत रिसामा को लगे चार चांद*

*-खुले में शौचमुक्त गाँव बना ग्राम रिसामा*

*-हैजा, डायरिया व जल जनित रोगों के प्रकोप से मिल रही है मुक्ति*

दुर्ग, 06 मार्च 2024/ प्रधान मंत्री की स्वच्छ भारत मिशन योजना के अंतर्गत जिले में स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत ग्राम पंचायत रिसामा को स्वच्छ बनाया गया। इस मिशन के अंतर्गत रिसामा में वृक्षारोपण एवं बागवानी किया गया है। जिसमें ग्रीन स्टेशन को खूबसूरती में चार चांद लगा दिया है। स्वच्छता निगरानी के लिए ग्राम पंचायत में सीसीटीवी कैमरा स्थापित किया गया है। स्वच्छता अभियान के दौरान 2.20 लाख की लागत से सामुदायिक शौचालय का निर्माण किया गया है। इसी तरह 3.64 लाख की लागत से सेग्रीग्रेशन शेड का निर्माण किया गया जिसमे मनरेगा के अंतर्गत कचरा कलेक्शन किया जा रहा है। 34 हजार 500 परिवार को 20 रू. की दर से प्रति माह 16 हजार रूपए स्वच्छता हितग्राहियों को भुगतान किया जा रहा है तथा सार्वजानिक स्थलों की साफ-सफाई की जा रही है।
स्वच्छता के लिए सार्वजनिक स्थानां से कचरा कलेक्शन के लिए कचरा पेटी रखी गई है। जिसमे ग्राम पंचायत रिसामा को 20 लाख रूपये राशि का अनुदान प्राप्त हुआ। इस राशि से कचरा पेटी, बचत बैंक प्रारंभ किया गया। इससे पर्यावरण प्रदूषण रोकने के लिए सिंगल यूज प्लास्टिक प्रबंधन को बंद किया गया है। उसके स्थान पर स्टील बर्तन बैंक की स्थापना की गई है। गांव में होने वाले सामाजिक, धार्मिक, सांस्कृतिक आयोजनों पर ग्रामीण जनों द्वारा सिंगल यूज प्लास्टिक के स्थान पर स्टील बर्तन का उपयोग किया जाने लगा है। परिणामस्वरूप सुखे कचरे के रूप में प्लास्टिक कचरे में कमी आयी है। लोग बर्तनों का इस्तेमाल कर अपनी पुरानी संस्कृति की तरफ लौट रहे हैं। अति गरीब परिवार को बर्तन निःशुल्क प्रदान किया जाता है, तथा सामान्य परिवार वर्ग के लिए शुल्क निर्धारित किया गया है। जिससे इन बर्तनों का साफ सफाई का मेंटनेंस किया जाता है।
महिला सरंपच गीता महानंदन ने बताया कि माहवारी प्रबंधन- किशोरी बालिकाओं तथा महिलाओं को माहवारी के दौरान सेनेटरी पैड के इस्तेमाल तथा उसके सुरक्षित निपटान की जानकारी दी जाती है। साथ ही शासकीय माध्यमिक विद्यालय रिसामा में तथा पंचायत भवन में वेंडिंग मशीन तथा इंसिनेटर मशीन लगाया गया है। जिससे सेनेटरी पैड के इस्तेमाल तथा उसके निपटान में किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। कचरा कलेक्शन हेतु 40 हजार लागत से 2 ट्राई साईकल, 1 ई-रिक्शा दिया गया। जिससे ग्राम पंचायत के स्वच्छताग्राही को कचरा कलेक्शन कर कचरे का निपटारा किया जा रहा है। सेरीकेशन शेड में कचरे को अलग-अलग कर खाद बनाने की प्रक्रिया की जा रही है।
ग्राम पंचायत रिसामा में मनरेगा के माध्यम से रेल्वे स्टेशन मे 3000 पौधे रोपण किए गए है। साथ ही ग्राम पंचायत द्वारा डस्टबिन भी रखा गया है। इससे रेलवे स्टेशन परिसर में स्वच्छता के साथ सुन्दरता भी बनी है। रेल्वे स्टेशन के इस दृश्य को देखकर रेल्वे बोर्ड द्वारा ग्रीन रेल्वे स्टेशन का नाम दिया गया है। रिसामा रेल्वे स्टेशन स्वच्छता का प्रतीक बन गया है। आज से आठ नौ वर्ष पूर्व गांव की स्थिति आज जैसी नहीं थी, लोग घरों से बाहर जाकर सड़कों के दोनों किनारे शौच करने जाने से गंदगी फैली रहती थी। स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत हर घर शौचालय बनाया गया तथा इसके इस्तेमाल के लिए जन जन को जागरूक करने के लिए जागरूकता अभियान चलाया गया। इस अभियान के अंतर्गत लोगों को खुले में शौच करने के हानिकारक परिणाम तथा शौचालय के इस्तेमाल से होने वाले लाभ के बारे में बताया गया। जहां हर वर्ष इस गांव में हैजा, डायरिया, जल जनित रोगों का प्रकोप रहता था वहीं अब शौचालय के इस्तेमाल से बीमारियां ना के बराबर होने लगी है। जिसका सीधा असर उनकी आर्थिक स्थिति पर भी पड़ने लगा। पहले की तुलना में अब उनकी आर्थिक स्थिति बेहतर हो गई है। लोगों को यह परिवर्तन समझ आने लगा और आज मेरा गांव खुले में शौचमुक्त गांव है।

anantcgtimes

लोकेश्वर सिंह ठाकुर (प्रधान संपादक) मोबाइल- 9893291742 ईमेल- anantcgtimes@gmail.com वार्ड नंबर-5, राजपूत मोहल्ला, ननकटठी, जिला-दुर्ग

Related Articles

Back to top button